Hindi Edition

गणतंत्र बचाओ के तहत प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह बंगाल में करेगें यात्रा

कोलकाता । अपनी गणतंत्र बचाओ यात्रा के तहत भाजपा ने अगले आठ दिनों के दौरान राज्य के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 10 रैलियां आयोजित करने की योजना बनाई है। इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा पार्टी के दूसरे शीर्ष नेता भी शिरकत करेंगे।

इनकी शुरुआत शनिवार को होगी। इस दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां दुर्गापुर और उत्तर 24-परगना जिले के ठाकुरनगर में दो रैलियों को संबोधित करेंगे वहीं राजनाथ सिंह कूचबिहार और अलीपुरदुआर की दो रैलियों में हिस्सा लेंगे। यह पहला मौका होगा जब बंगाल के उत्तरी व दक्षिणी हिस्सों में पार्टी के दो शीर्ष नेता एक साथ चार रैलियों को संबोधित करेंगे।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि एक ही दिन मोदी व राजनाथ सिंह की चार-चार रैलियों से साफ है कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व इस बार बंगाल को कितनी अहमियत दे रहा है। सूत्रों ने बताया कि मोदी की ठाकुर नगर की रैली इलाके में राजनीति पर जबरदस्त पकड़ रखने वाले मतुआ समुदाय के एक गुट ने आयोजित की है।

उसे भाजपा की राजनीतिक रैली नहीं कहा जा सकता। लेकिन मोदी उस रैली का इस्तेमाल केंद्र व भाजपा की नीतियों के प्रचार के लिए ही करेंगे। दुर्गापुर में मोदी की रैली राजनीतिक होगी। इलाके की आसनसोल संसदीय सीट पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है।

दूसरी ओर, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को पहले कूचबिहार व फिर अलीपुरदुआर में पार्टी की दो रैलियों को संबोधित करेंगे। उसके बाद रविवार को वे हुगली जिले में पार्टी की एक अन्य रैली को संबोधित करेंगे। भाजपा सूत्रों ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उसी दिन उत्तर दिनाजपुर जिले में पार्टी की एक रैली को संबोधित करेंगे।

योगी पांच फरवरी को भी बांकुड़ा व पुरुलिया जिले में रैलियां करेंगे। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सात फरवरी को मुर्शिदाबाद जिला मुख्यालय बहरमपुर औऱ कोलकाता के उत्तरी इलाके में स्थिति दमदम में दो रैलियों में हिस्सा लेंगे।

भाजपा सूत्रों ने बताया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस बार प्रदेश नेतृत्व को राज्य की 42 में से कम से कम 22 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य दिया है। इसी वजह से पार्टी ने अबकी बंगाल पर अपना ध्यान केंद्रित किया है। वह फरवरी के पहले सप्ताह से ही ताबड़तोड़ रैलियां आयोजित करने में जुट गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...