Hindi Edition

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने के मामले पर भारत चीन से नाराज

नई दिल्ली । चीन ने बुधवार को जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया और आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने के मामले पर वीटो का इस्तेमाल करके रोड़ा अटकाया था। चीन का कहना था कि उसे थोड़ा समय चाहिेए ताकि ऐसा फैसला लिया जाए जो सभी को मंजूर हो। अब सूत्रों का कहना है कि इस मुद्दे पर भारत अपने संयम का प्रदर्शन करेगा। भारत के पास 14 सदस्यों का मजबूत समर्थन है।

सूत्रों ने कहा, ‘ भारत चीन के कदम से नाराज है। हम अभी भी प्रतिबंध समिति के सदस्यों के साथ कार्य कर रहे हैं। इससे बड़ा कोई और बयान नहीं हो सकता है कि यूएनएससी के आधे सदस्यों ने इस प्रस्ताव को प्रायोजित किया है। होल्ड ब्लॉक नहीं है। हम आशावादी हैं।’

सूत्रों ने बताया कि भारत का कहना है कि जब तक हो सकेगा वह धैर्य का प्रदर्शन करेगा। हम इस बात को लेकर आशावादी हैं कि मसूद अजहर को सूचीबद्ध किया जाएगा। कई ऐसे मुद्दे हैं जिन्हें चीन को पाकिस्तान के साथ सुलझाना है। भारत के पास 14 सदस्यों का मजबूत समर्थन है।

सूत्रों ने कहा, ‘चीन भी जानता है कि आतंकवाद एक चुनौती है, वह जानता है कि आतंकवाद पाकिस्तान से संचालित किया जाता है। भारत धैर्य दिखाएगा। पाकिस्तान अपनी राजनयिक शक्ति उसे बचाने में खर्च कर रहा है जिसे कि बचाया नहीं जा सकता है। अमेरिका भारत का समर्थन करता है और उसने आश्वासन दिया है कि पाकिस्तान कार्रवाई करेगा।’

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के सूत्रों का कहना है, ‘भारत ने हथियारों को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। यूएस ने इसपर नोट लिया है और वास्तविक समय में अपनी स्थिति साझा करने के लिए भारत की सराहना की। पाकिस्तान की तरफ से अमेरका को कोई यह नहीं समझा पाया है कि भारत उसके लिए खतरा है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...