Hindi Edition

दलित और आम आदमी के नेता रामचंद्र पासवान हमारे बीच नहीं रहे : कुमार

नई दिल्ली । अभी कल की ही तो बात हम साथ साथ संघर्ष करते थे, कल इसी दिन साल भर पहले SC/ ST के आरक्षण के मसले पर प्रधान-मंत्री जी को पत्र लिखा था, प्रेस वार्ता कर रहे थे, ग्रीन ट्रिब्यूनल के चेयरमैन के खिलाफ बिगुल फुंका था और आज मुझे उन्हें श्रद्धाजंलि देनी है ।

रामचंद्र पासवान, सांसद एवं अध्यक्ष दलित सेना अब हमारे बीच नहीं रहे । देश का दलित और आम आदमी अपना नेता खो दिया एक ऐसा नेता जो विशेष होते हुये भी अति सामान्य था हर सवाल का सरल जबाब था और जिन्हे अटूट विश्वास था महान नेता राम विलास पासवान पर अक्सर गम्भीर विषय पर यही कहते नजर आते थे चलिये ना भैया से बात कर लेते हैं ।

वो हर मामले में राम के लक्ष्मण थे और जाते जाते भी राम को संजीवनी लाने का मौका दिये बिना ही चले गए । हम जानते हैं अब ये स्थान कभी नहीं भरा जायेगा – शत शत नमन तुम्हे जय भीम जय भारत ।

# कुुुमार सुप्रीम कोर्ट नई दिल्ली के अधिवक्ता, वरिष्ठ पत्रकार एवं लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...